Saturday, 12 August 2017

छींक का आना कब शुभ और अशुभ होता है- When is sneezing beneficial and unbeneficial

अगर देखा जाये तो छींक आना एक सामान्य घटना है जो किसी को कभी भी आ सकती है. हमारे पुरातन समय से ही देखा गया है की कहीं जगह हमारी छींक सुभ मानी जाती है और कहीं जगह अशुभ मानी जाती है. इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको यही बताना चाहते है. तो आईये पड़ते इस पोस्ट को---


pixbay


1) कही जा रहे हो और रास्ते में छींक आए तो सुभ माना जाता है.

2) दावा और खाना खाते समय छींक सुभ ही मानी जाती है.

3) यात्रा के अरम्ब में छींक अशुभ मानी जाती है.

4) घर से बहार जाते समय दाएं तरफ से छींक सुनाई दे तो धन की हनी होती है.

5) पखाना करते जाते समय प्रतेक छींक सुभ होती है.

6) कही जाते समय अगर पीछे या बाई तरफ से छींक सुनाई दे तो सुभ माना जाता है.

7) अगर हम कोई वास्तु खरीद रहे है तो छींक आ जाए तो सुभ माना जाता है और उस चीज़ से लाभ जरुर होगा.

8) नए घर में परवेश करते समय अगर कोई छींकता है तो यह अ सुभ माना जाता है. और हमें अपना परवेश स्तगित कर देना चाहिए.

अशुभ छींक से बचने के उपाए--
अगर अपको लगता है की अपने कोई गलत या अशुभ छींक सुनी दी है तो तुरंत ही ॐ नम: शिवाय मंत्र का पांच बार जप करना चाहिए. अगर हो सके तो थोड़ी देर रुक कर फिर कहीं जाना चाहिए.